विंध्यवासिनी

विंध्य पंडा समाज के अध्यक्ष पंकज द्विवेदी ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि तीर्थपुरोहित अपने वेशभूषा में मां के दरबार में रहेंगे. वहीं, अपना पहचान पत्र साथ में रखेंगे.

मंगला तिवारी/मिर्जापुर: उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में स्थित मां विंध्यवासिनी मंदिर में नवरात्रि में मां विंध्यवासिनी का चरण स्पर्श पर प्रतिबंध रहेगा. भक्तों की संभावित भीड़ को देखते हुए विंध्य पंडा समाज ने फैसला लिया है. श्रद्धालुओं को कोई और असुविधा नहीं होने पाएं, इसके लिए विंध्य पंडा समाज के सदस्यों की ड्यूटी लगाई जाएगी. मां विंध्यवासिनी धाम में नवरात्रि में लाखों की संख्या में भक्तों की भीड़ मां के आशीर्वाद के लिए उमड़ती है. 9 अप्रैल से शुरु हो रहे चैत्र नवरात्रि में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए बैठक की. बैठक में फैसला लिया गया कि नवरात्रि में मां विंध्यवासिनी के चरण स्पर्श पर 24 घंटे प्रतिबंध रहेगा.

विंध्य पंडा समाज के अध्यक्ष पंकज द्विवेदी ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि तीर्थ पुरोहित अपने वेशभूषा में मां के दरबार में रहेंगे. वहीं, अपना पहचान पत्र साथ में रखेंगे. उन्होंने बताया कि समाज के लोग ड्रेस के साथ आई कार्ड भी साथ में रखें, अन्यथा उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाएगा. विंध्य पंडा समाज के 15-15 सदस्यों की ड्यूटी भी श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए लगाई जाएगी, जो दो-दो घंटे की ड्यूटी करेंगे. भक्तों को सुलभ दर्शन कराने में सदस्य मदद करेंगे. 9 अप्रैल की भोर में मंगला आरती के बाद कपाट खुलते ही ड्यूटी शुरु हो जाएगी

गर्भगृह में Phone के इस्तेमाल पर रहेगी रोक:

अध्यक्ष पंकज द्विवेदी ने बताया कि मां विंध्यवासिनी धाम के गर्भगृह में मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध रहेगा. श्रद्धालु फ़ोन का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे. आम तौर पर श्रद्धालु गर्भगृह में फोन का इस्तेमाल वीडियो व फ़ोटो बनाने के लिए या फिर वीडियो कॉल पर दर्शन कराने के लिए करते है. नवरात्रि में फ़ोन के इस्तेमाल पर रोक लगाया है. सुरक्षा और सहूलियत को लेकर यह फैसला लिया गया है.

तम्बाकू और गुटखा का नहीं करें सेवन:

पंकज द्विवेदी ने बताया कि मां विंध्यवासिनी धाम में गुटखा और पानी खाकर आने श्रद्धालुओं पर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि श्रद्धालु स्वयं इसका इस्तेमाल नहीं करे. पूरे धाम को स्वच्छ बनाएं रखने के लिए भक्त पूरा सहयोग दें. मेला के दौरान 24 घंटे विंध्य पंडा समाज के पदाधिकारी और सदस्य भक्तों की मदद के लिए सेवा में तत्पर रहेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *