राहुल गांधी

राहुल गांधी ने भारत के इतिहास में ‘सबसे बड़ा शेयर बाजार घोटाला’ होने का आरोप लगाया, जेपीसी जांच की मांग की।

भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर उनके ‘शेयर बाजार घोटाले‘ के आरोप को लेकर पलटवार किया।

भाजपा नेता पीयूष गोयल ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “राहुल गांधी अभी भी लोकसभा चुनाव में हार से उबर नहीं पाए हैं। अब वह बाजार के निवेशकों को गुमराह करने की साजिश कर रहे हैं। आज भारत पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।”

मुंबई उत्तर से लोकसभा चुनाव जीतने वाले गोयल ने कहा, “मोदी सरकार के पिछले 10 वर्षों में पहली बार हमारा बाजार पूंजीकरण 5 ट्रिलियन डॉलर से अधिक हो गया है। आज भारत का इक्विटी बाजार दुनिया की शीर्ष 5 अर्थव्यवस्थाओं के बाजार पूंजीकरण में शामिल हो गया है…हम जानते हैं कि मोदी सरकार के तहत बाजार में सूचीबद्ध सार्वजनिक उपक्रमों का बाजार पूंजीकरण 4 गुना बढ़ गया है।”

भाजपा की यह प्रतिक्रिया राहुल गांधी द्वारा शेयर बाजार घोटाले का आरोप लगाने के बाद आई है, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर सीधे तौर पर इसमें शामिल होने का आरोप लगाया है। शाम को एक प्रेस वार्ता में गांधी ने कहा, “प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री ने शेयर बाजार में निवेश करने वाले पांच करोड़ परिवारों को निवेश संबंधी विशेष सलाह क्यों दी? क्या निवेश संबंधी सलाह देना उनका काम है? दोनों साक्षात्कार एक ही मीडिया को क्यों दिए गए, जिसका स्वामित्व उसी कारोबारी समूह के पास है, जिस पर शेयर में हेराफेरी करने के लिए सेबी की जांच चल रही है।”

कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए गोयल ने कहा, “जब 10 साल पहले यूपीए सरकार सत्ता में थी, उस समय भारत का बाजार पूंजीकरण 67 लाख करोड़ रुपये था…आज बाजार पूंजीकरण बढ़कर 415 लाख करोड़ रुपये हो गया है।” प्रधानमंत्री मोदी ने 23 मई को कहा था, “मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि 4 जून को जब भाजपा रिकॉर्ड संख्या में पहुंचेगी, तो शेयर बाजार भी नए रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचेगा।” दूसरी ओर, केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने कहा था, “बाजार पहले भी गिर चुका है। इसलिए इसे सीधे चुनावों से नहीं जोड़ना चाहिए। वैसे भी, कुछ अफवाहों ने इसे (गिरावट को) हवा दी होगी। मेरी राय में, 4 जून से पहले खरीद लें। बाजार में उछाल आने वाला है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *