सुकमा

सुकमा में नक्सलियों का हमला: मंगलवार को सुकमा में सीआरपीएफ के नए पुलिस कैंप पर नक्सलियों ने हमला कर दिया. इसमें तीन जवानों की जान चली गयी और चौदह घायल हो गये. घटना की पुष्टि बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने की है.

दरअसल, पुलिस ने मंगलवार को टेकलगुडेम में एक नया कैंप स्थापित किया. शिविर की स्थापना के बाद इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाले जवान जूनागुड़ा-अलीगुड़ा इलाके में गश्त पर थे, तभी पहले से घात लगाए बैठे नक्सलियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी और 100 से ज्यादा बीजीएल फायर किए। जवानों ने तुरंत स्थिति पर नियंत्रण कर लिया. शत्रुतापूर्ण रुख अपनाया.

Reporters के अनुसार, दोनों पक्षों के बीच तीन से चार घंटे तक गोलीबारी चली, जिसके दौरान नक्सलियों ने सैनिकों पर 100 से अधिक बीजीएल (बैरल ग्रेनेड लांचर) दागे, जिससे कई सैनिक घायल हो गए और गोली लगने से तीन सैनिकों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कुछ घायल जवानों की हालत गंभीर है। बेहतर देखभाल के लिए जवानों को फिलहाल हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा जा रहा है। घटना की पुष्टि बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने की है.

2021 में नक्सली हमले भी हुए.

बस्तर आईजी सुंदरराज पी के मुताबिक, पुलिस नक्सलियों के इलाके के बीचोबीच लगातार नए कैंप बना रही है. Tuesday को ही सुकमा-बीजापुर सीमा के पास टेकलगुडेम में भी नया कैंप बनाया गया. यह वही जगह है जहां 2021 में नक्सलियों ने घात लगाकर जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी थी, जिसमें 23 जवानों की मौत हो गई थी. तब से, Police इस क्षेत्र में नक्सलियों की घुसपैठ को रोकने के प्रयास में नियमित रूप से यहां शिविर स्थापित कर रही है। जब मैं एक योजना बना रहा था, मंगलवार को CRPF और डीआरजी के जवान एक शिविर की स्थापना देखने पहुंचे।

शिविर को सुरक्षित करने के लिए सीआरपीएफ कोबरा और डीआरजी सैनिकों के एक समूह को आसपास के क्षेत्र में गश्त करने के लिए भेजा गया था; हालाँकि, वही पुलिस दल नक्सलियों के हमले का शिकार हो गया। मुठभेड़ की खबर मिलते ही टेकलगुडेम कैंप से और POLICE भेज दी गई। पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली भाग गए और फोर्स भेजी गई।

महानिरीक्षक (आईजी) की रिपोर्ट है कि इस मुठभेड़ के दौरान कई नक्सलियों को भी गोली लगी है. खुफिया रिपोर्ट से संकेत मिलता है कि नक्सली एक बार फिर जवानों को गंभीर नुकसान पहुंचाने के इरादे से टेकलगुडेम कैंप पर हमला करने की तैयारी में थे, जिनमें करीब 200 जवान शामिल थे. नक्सलियों ने घात लगाकर जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिससे 14 जवान घायल हो गए और 3 जवान शहीद हो गए।
घायल जवानों को हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजने की योजना चल रही है, जहां उन्हें बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *